Saturday, July 4, 2020

UGC NET ke Liye Best Books Paper 1

UGC NET ke Liye Best Books Paper 1

UGC NET ke Liye Best Books Paper 1

भारत में UGC NET की परीक्षा एक महत्वपूर्ण परीक्षा है। यह परीक्षा पहले UGC  के द्वारा आयोजित की जाती थी लेकिन 2018 से अब ये परीक्षा NTA (National  Testing Agency ) के द्वारा आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में UGC NET/JRF Paper 1 की एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जो विद्यार्थी पेपर 1 की तैयारी अच्छे से नहीं करते उन्हें इस परीक्षा को पास करना मुश्किल होता है। 

इसी के चलते बहुत सारे उम्मीदवार अच्छी तैयारी के बाद परीक्षा पास नहीं कर पाते। लेकिन सही दिशा में मेहनत करने से आप आसानी से इस परीक्षा को पास कर सकते हैं।  

इस पोस्ट में हम आपके साथ ये जानकारी साझा करेंगे कि UGC/NTA - NET/JRF पेपर 1 के लिए आपको कौन-कौन  सी Books पढ़नी चाहिए।  

लेकिन इसके पहले कुछ जरुरी जानकारी भी साझा कर लेते हैं।  

UGC Kya Hai (यू जी सी क्या है )?

यहाँ UGC का मतलब है विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (University Grant Commission ) , यह भारत सरकार का एक स्वतंत्र निकाय है जिसकी स्थापना सांविधिक प्रक्रिया के द्वारा 1953 में की गयी थी। यह आयोग विभिन्न विश्वविद्यालयों को अनुदान प्रदान करने के साथ-साथ अन्य निर्देश भी देता है।  


NTA Kya Hai (एन टी ए क्या है) ?

NTA, यानि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी अभी हाल ही में भारत सरकार द्वारा निर्मित की गयी एक एजेंसी है।  इस आयोग की स्थापना 2018 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार (MHRD) द्वारा की गयी थी।जिसका काम भारत की महत्वपूर्ण प्रवेश परीक्षाओं (Entrance Exams) आयोजित काराना होता है। 
NTA  के द्वारा निम्न परीक्षाएं आयोजित करायी जाती हैं:


  1. UGC NET/JRF 
  2. CSIR NET/JRF
  3. JEE Main
  4. NEET (UG)
  5. GPAT
  6. CMAT
  7. NCHM
  8. IGNOU
  9. AIEEA
  10. JNUEE
  11. ARPIT
  12. DUET
  13. IIFT
  14. ICAR
  15. SWAYAM


Paper Pattern and Syllabus-

UGC NET की परीक्षा में दो पेपर होते हैं पेपर 1 और पेपर 2 । पेपर 1 में 50 प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि अलग-अलग subjects से पूछे जाते हैं।  वहीँ पेपर 2 में उस विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं जो आपने चुना है यानि जिस subject में आपने अपनी स्नातकोत्तर (Master  Degree) की उपाधि हासिल की है।  




पेपर प्रश्नों की संख्या अंक परीक्षा का समय
पेपर 1 50 100 01:30
पेपर 2 100 200 02:00
कुल प्रश्न- 150 कुल अंक - 300 कुल समय - 3:30 Hr


Best Books UGC NET Paper - 1

आपने Market में बहुत सारी किताबें देखी होंगी।  अलग अलग तरह के लोग बताते हैं कि ये किताब अच्छी है वो किताब अच्छी है लेकिन ये सही तौर पर कैसे पता करें कि कौन सी किताब अच्छी है।  

सबसे पहले ये देखें कि लोग उस किताब के विषय में क्या बोल रहे हैं।  और ये भी देखें कि जो लोग किताब के बारे मैं बता रहे हैं उन्हें उस किताब को पढ़कर कुछ लाभ मिला है कि नहीं। 

कुछ प्रकाशन इतने Popular हो गए हैं लेकिन वो बहुत ही घटिया Content  देते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग उन्ही किताबों को खरीदते हैं।  

घटिया किताबें खरीदने से न केवल आपका पैसा बेकार जाता है बल्कि आपका कीमती समय भी ख़राब होता है। 
अगर आप बाजार से कताबें खरीद रहे हैं तो खुद देख लें कि किताब में दम है कि नहीं।  लेकिन वहीँ अगर आप ऑनलाइन किताबें खरीदते हैं तो उनकी Reviews  & ratings जरूर चैक करें।   

यहाँ कुछ किताबों के लिंक दिए गए हैं जिन्हें आप अमेज़न से खरीद सकते हैं।  खरीदने से पहले अच्छे से चैक कर लें।  


Thursday, May 28, 2020

BEd Kya hai aur Kahan se kare, Achchha College, Fee etc. : Question - Answer in Hindi

BEd Kya hai aur Kahan se kare (बीएड क्या है और कहाँ से करें)

प्यारे दोस्तों, इस पोस्ट में B.Ed से सम्बंधित जो सवाल आपके द्वारा पूछे जाते हैं या कई बार आपके मन कई तरह के सवाल आते हैं उनमें से ज्यादातर सवालों को यहाँ साझा किया गया है।  

अगर आपका भी किसी तरह का सवाल है तो आप कमेंट के माध्यम से अपने सवाल हमारे साथ साझा कर सकते हैं। अगर आपका प्रश्न हमें अच्छा लगा तो हम उसे अपने प्रश्नों में शामिल कर लेंगे।  



B.Ed Kya hai (बीएड क्या है)?

B.ed (बीएड) एक डिग्री स्तर का कोर्स है। इस कोर्स या डिग्री को प्राप्त करने के बाद आप भारत में विभिन्न स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए योग्य हैं। कुछ वर्ष पहले ये कोर्स एक वर्ष का होता था लेकिन अभी यानि 2020 तक ये कोर्स 2 वर्ष का होता है। इस कोर्स या डिग्री को प्राप्त करने लिए आपको किसी डिग्री कॉलेज (Degree College) या विश्वविद्यालय (University ) में एड्मिशन लेना होता है।

B.ED में Admission के लिए आपको एक प्रवेश परीक्षा (Entrance Test) देनी होती है। यह प्रवेश परीक्षा अलग अलग विश्वविद्यालयों  



bed kya hai, bed ki fees kitni hoti hai


B.Ed ki full form (बीएड की फुल फॉर्म क्या है) -  

B.Ed  का मतलब होता है Bachelor of Education, यानि एक ऐसी डिग्री जो आपको उस आधार पर मिली हुई है जिसमें आपने यह सीखा है कि बच्चों को स्कूल में कैसे पढ़ाया जाता है क्या-क्या तरीके हैं पढ़ाने के। 


B.Ed Kyon ki jati hai (बीएड क्यों की जाती है)- 

B.Ed इसीलिए की जाती है जिससे आप पूरे भारत में कहीं भी एक अध्यापक बन सकें। B.Ed करने के बाद आप अध्यापक बनने के योग्य हो जाते हैं।

B.Ed की डिग्री हासिल करने का मतलब अध्यापक होता है अगर आपके पास B.Ed की डिग्री है तो आप विभिन्न स्कूलों में अध्यापक बनने योग्य हैं

इस डिग्री के माध्यम से आप प्राइमरी टीचर (Primary Teacher),  ट्रेंड ग्रैजुएट टीचर (TGT - Trained Graduate Teacher ) पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT - Post Graduate Teacher) बन सकते हैं।

Primary Teacher - कक्षा 1-5 तक
Trained Graduate Teacher - कक्षा 6-8 तक
Post Graduate Teacher - कक्षा 9-12


B.Ed kaise kare (बीएड कैसे करें)- 

B.Ed एक प्रकार की डिग्री है जो स्नातक (Graduation) के बाद की जाती है। B.Ed के लिए देश के विभिन्न विश्वविद्यालय आवेदन पत्र आमंत्रित करते हैं । आप जिस राज्य या केंद्र शासित प्रदेश में रहते हैं उसी में किसी विश्वविद्यालय से B.Ed की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।

आजकल ज्यादातर (Universities) विश्वविद्यालय B.Ed में एडमिशन लेने से पहले प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण हुए विद्यार्थियों को ही B.Ed में एडमिशन दिया जाता है।

देश में कुछ ऐसे विश्वविद्यालय भी हैं जिन में आप बिना प्रवेश परीक्षा के भी B.Ed में एडमिशन ले सकते हैं।



B.Ed kahan se kare (बीएड कहाँ से करें)- 

जैसा कि आपको बताया गया है कि आप B.ed कहीं से भी कर सकते हैं यानी किसी भी विश्वविद्यालय से। लेकिन इससे पहले पता कर ले कि वह विश्वविद्यालय B.Ed मैं एडमिशन लेता है या नहीं।

भारत में दो अलग-अलग तरह के सरकारी और प्राइवेट विश्वविद्यालय हैं और इनमें से ज्यादातर विश्वविद्यालय B.Ed की डिग्री के लिए एडमिशन लेते हैं। इसके लिए आपको पता करना होगा।

अलग-अलग राज्यों के विश्वविद्यालय और केंद्रीय विश्वविद्यालय B.Ed में एडमिशन से पहले प्रवेश परीक्षा आयोजित कराते हैं और प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण हुए विद्यार्थियों को भी B.Ed में एडमिशन किया जाता है।
आप किसी ऐसे डिग्री कॉलेज से भी B.Ed कर सकते हैं जिसमें B.Ed के लिए एडमिशन लिए जाते हों। ज्यादातर राज्यों के विश्वविद्यालय इन्हीं कॉलेजों के माध्यम से B.Ed कर आते हैं।


B.Ed kitne saal ki hoti hai (बीएड कितने साल की होती है) - 

2014 से पहले B.Ed 1 साल की होती थी लेकिन उसके बाद B.Ed 2 साल की होती है। 

समय-समय पर B.Ed के पाठ्यक्रम और ड्यूरेशन में बदलाव होता रहता है।

कई बार ये सवाल भी उठता रहा है कि बीएड 4 साल की कर दी जाय। लेकिन अभी तक यानि 2020 तक ऐसा कोई भी नया नियम नहीं आया है।  


B.Ed ki fees kitni hoti hai (बीएड की फीस कितनी होती है)- 


बीएड की फीस अलग-अलग विश्वविद्यालयों और अलग-अलग कॉलेज पर निर्भर करती है।

B.Ed की फीस ₹0 से ₹100000 तक हो सकती है क्योंकि अलग अलग विश्वविद्यालय अलग-अलग फीस निर्धारित करते हैं। आप अपने नजदीक के विश्वविद्यालय या डिग्री कॉलेज की फीस पता कर सकते हैं।

केंद्रीय विश्वविद्यालय और सरकारी कॉलेजों की फीस काम ही होती है।  वहीँ प्राइवेट विश्वविद्यालय और कॉलेजों की फीस ज्यादा होती है।  जैसा नीचे आंकड़ा दिया गया है।  

केंद्रीय विश्वविद्यालय - ₹0 - 10000
सरकारी कॉलेज - ₹0 - 10000
प्राइवेट विश्विद्यालय या कॉलेज - ₹10000 - 100000



B.Ed ke liye Achchhe College (बीएड के लिए अच्छे कॉलेज)

इस प्रश्न का उत्तर अलग अलग बातों पर निर्भर करता है। देश में कुछ कॉलेज अच्छे होते हैं लेकिन ये पता करना बड़ा मुश्किल है। यहाँ एक बात ध्यान देने योग्य है कि अगर आप किसी अच्छे कॉलेज या विश्वविद्यालय से बीएड करना चाहते हैं तो आपको पता करना होगा। 

जहाँ तक मेरा अनुभव है कि ज्यादातर सरकारी कॉलेज, केंद्रीय विश्वविद्यालय, तथा राज्य के प्रमुख सरकारी विश्वविद्यालय बीएड में एडमिशन के लिए अच्छे होते हैं।  

कुछ ऐसे अपवाद भी हैं जहाँ कुछ प्राइवेट विश्वविद्यालय या प्राइवेट कॉलेज भी अच्छे हैं जो बीएड के लिए प्रसिद्द हैं।  




तो दोस्तों, ये थे कुछ बीएड (B.Ed) से सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल, जो अक्सर लोगो के द्वारा पूछे जाते हैं।  अगर आपके पास भी इस तरह का कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।



  

Wednesday, May 20, 2020

IGNOU Courses : Fee and Other Details in Hindi

IGNOU Courses - 

यहाँ, इस पोस्ट के माध्यम से इंदिरा गाँधी मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU ) द्वारा चलाये जा रहे पाठ्यक्रमों (Courses ) का विवरण दिया गया है।  

आपको पता होगा इंदिरा गाँधी मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) भारत का एक प्रतिष्ठित मुक्त विश्वविद्यालय (Open University) है।

इस मुक्त विश्वविद्यालय (Open University) से ज्यादातर वे लोग पढाई करते है जो किसी कारणवश अपनी रेगुलर पढाई जारी नहीं रख पाते। इन लोगों में ज्यादातर नौकरी करने वाले या दूर रहने वाले लोग शामिल हैं।  


IGNOU Courses



क्रेडिट पद्धति

विश्वविद्यालय अपने अधिकांश कार्यक्रमों के लिए "क्रेडिट पद्धति" का अनुसरण करता है। हमारी शिक्षण पद्धति में प्रत्येक क्रेडिट 30 घंटे के अध्ययन के बराबर होता है जिसमें सभी शिक्षण गतिविधियाँ (अर्थात मुद्रित सामग्री पढ़ना और समझना, श्रव्य कार्यक्रम सुनना, दृश्य कार्यक्रम देखना, परामर्श सत्रों, टेलीकान्फ्रेसिंग में भाग लेना और सत्रीय कार्यों के उत्तर देना) शामिल हैं। इस प्रकार, 4 क्रेडिट वाले पाठ्यक्रम में 120 घंटे का अध्ययन अपेक्षित है। इससे विद्यार्थियों को यह समझने में मदद मिलती है कि किसी पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए उन्हें कितना प्रयास करना है। किसी शैक्षिक कार्यक्रम (उपाधि अथवा डिप्लोमा) को पूरा करने के लिए विद्यार्थी को कार्यक्रम के प्रत्येक पाठ्यक्रम के सत्रीय कार्य, प्रायोगिक कार्य, परियोजना और सत्रांत परीक्षा को सफलतापूर्वक पूरा करना अनिवार्य है।


मूल्यांकन पद्धति

इग्नू में मूल्यांकन की पद्धति परंपरागत विश्वविद्यालयों से भिन्न है। इग्नू में बहु-स्तरीय मूल्यांकन पद्धति है।

१. अध्ययन की प्रत्येक इकाई में स्व-मूल्यांकन अभ्यास।
२. मुख्यतया सत्रीय कार्यों के माध्यम से सतत मूल्यांकन किया जाता है जिनमें अध्यापक जाँच, प्रयोगात्मक सत्रीय कार्य तथासेमीनार / कार्यशालाएं/ विस्तारित संपर्क कार्यक्रम शामिल हैं।
३. सत्रांत परीक्षाएँ
४. परियोजना कार्य

विद्यार्थियों का मूल्यांकन उनके द्वारा किए गए विभिन्न शैक्षिक कार्यों पर निर्भर करता है। प्रत्येक विद्यार्थी को शैक्षिक कार्यक्रम पूरा करने के लिए समय-समय पर सत्रांत परीक्षा में बैठने से पहले सत्रीय कार्यों के उत्तर लिखना अनिवार्य है। प्रत्येक विद्यार्थी को संबंधित अध्ययन केन्द्र के संयोजक के पास अध्यापक जाँच सत्रीय कार्य भेजना आवश्यक है जिससे वह संबद्ध है। विद्यार्थी को सत्रीय कार्य की एक प्रति अपने पास
रखनी चाहिए जि से माँगने पर विद्यार्थी मूल्यांकन प्रभाग को दिया जा सकता है। सत्रांत परीक्षा देश और विदेश में फैले विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर जून और दिसंबर में आयोजित की जाती है।

इग्नू विद्यार्थियों की उपलब्धि का मूल्यांकन करने के लिए निम्नलिखित 'ग्रेड' पद्धति का प्रयोग करता है :

अक्षर ग्रेड गुणात्मक स्तर बिन्दु ग्रेड
A उत्कृष्ट 5
B बहुत अच्छा 4
C अच्छा 3
D संतोषजनक 2
E असंतोषजनक 1

स्नातक एवं स्नातकोत्तर उपाधि कार्यक्रमों के लिए सामान्यतया अंकन पद्धति का अनुसरण किया जाता है और सत्रीय कार्यों एवं सत्रांत परीक्षा आदि में प्राप्त अंकों को बाद में उपर्युक्त वर्णित पाँच बिंदु ग्रेड स्केल के अनुसार ग्रेडों में परिवर्तित किया जाता है। यद्यपि विद्यार्थी की आवश्यकतानुसार विश्वविद्यालय द्वारा अंक एवं श्रेणी (I, II या उत्तीर्ण) भी प्रदान की जाती है।

सत्रांत परीक्षा और परीक्षा शुल्क का भुगतान

विश्वविद्यालय वर्ष में दो बार जून और दिसंबर माह में सत्रांत परीक्षा आयोजित करता है। विद्यार्थी को सत्रांत परीक्षा में निम्नलिखित शर्तों पर

बैठने दिया जाता है :
(1) पाठ्यक्रमों का पंजीकरण मान्य है और समयावधि समाप्त नहीं हुई है,
(2) उसने अपेक्षित संख्या में, लागू होने पर, नियत तारीख तक इन पाठ्यक्रमों के सत्रीय कार्य जमा करा दिए हैं।
(3) कार्यक्रम के प्रावधानों के अनुसार इन पाठ्यक्रमों को पूरा करने की न्यूनतम अवधि पूरी कर ली है। (4) विद्यार्थी ने उन सभी पाठ्यक्रमों का परीक्षा शुल्क जमा करा दिया है, जिनकी सत्रांत परीक्षा में वह बैठ रहा है।

उपर्युक्त में से किसी भी शर्त को पूरा न करने पर इस प्रकार के सभी पाठ्यक्रमों का परीक्षाफल घोषित नहीं किया जाएगा।

परीक्षा शुल्क

किसी भी पाठ्यक्रम की परीक्षा में बैठने के लिए विद्यार्थी द्वारा रु. 120/- प्रति पाठ्यक्रम परीक्षा शुल्क का भुगतान करना अनिवार्य है। इसका भुगतान इग्नू के पक्ष में डिमांड ड्राफ्ट द्वारा किया जाना चाहिए और यह उस क्षेत्रीय केन्द्र के शहर में देय हो जहां परीक्षा फार्म जमा कराया जा रहा है। विद्यार्थी दिशा-निर्देशों के अनुसार परीक्षा अनुसूची के दौरान इग्नू की वेबसाइट www.ignou.ac.in पर भी ऑनलाइन परीक्षा फार्म जमा करा सकते हैं और भुगतान किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक के क्रेडिट / डेबिट कार्ड द्वारा किया जा सकता है।

परीक्षा फार्म जमा कराना

जमा कराने की तारीख :

जून सत्रांत परीक्षा के लिए विलम्ब शुल्क

01 मार्च से 31 मार्च शून्य
01 अप्रैल से 30 अप्रैल रु. 500/-
01 मई से 15 मई रु. 1000/-


दिसम्बर सत्रांत परीक्षा के लिए विलम्ब शुल्क
1 सितम्बर से 30 सितम्बर शून्य
01 अक्तूबर से 31 अक्तूबर रु.500/-
1 नवम्बर से 15 नवम्बर रु. 1000/-




जमा कराने का स्थान

परीक्षा फार्म केवल उसी क्षेत्रीय केंद्र में जमा कराना चाहिए, जिसके अंतर्गत विद्यार्थी का परीक्षा केन्द्र आता है।
कृपया डिमांड ड्राफ्ट के पीछे अपनी सही नामांकन सं., कार्यक्रम का कोड और नाम लिखें। नियत तारीख के बाद अथवा अपेक्षित होने पर
विलंब शुल्क के बिना प्राप्त परीक्षा फार्म को निरस्त कर दिया जाएगा।



Post Graduate or Master Courses (स्नातकोत्तर उपाधि कार्यक्रम)

1. कंप्यूटर अनुप्रयोग में स्नातकोत्तर उपाधि (एम.सी.ए.)
2. आहार विज्ञान और खाद्य सेवा प्रबंधन में एम-एससी/ (एम.एस.सी.डी.एफ.एस.एम.)
3. ग्राम विकास में एम.ए. (एम.ए.आर.डी.)
4. परामर्श एवं परिवार चिकित्सा में एम.एससी. (एम.एस.सी.सी.एफ.टी.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
5. पर्यटन एवं यात्रा प्रबंध में एम.ए. (एम.टी.टी.एम.)
6. अंग्रेजी में एम.ए. (एम.ई.जी.)
7. हिन्दी में एम.ए. (एम.एच.डी.)
8. समाज कार्य में एम.ए. (एम.एस.डब्ल्यू.).
9. समाज कार्य (परामर्श) में एम.ए. (एम.एस.डब्ल्यू.सी.)
10. दर्शनशास्त्र में एम.ए. (एम.ए.पी.वाई).
11. शिक्षा में एम.ए. (एम.ए.ई.डी.यू.)
12. अर्थशास्त्र में एम.ए. (एम.ई.सी.)
13. इतिहास में एम.ए. (एम.ए.एच.)
14. राजनीति विज्ञान में एम.ए. (एम.पी.एस.)
15. लोक प्रशासन में एम.ए. (एम.पी.ए.)
16. समाजशास्त्र में एम.ए. (एम.एस.ओ.)
17. गाँधी और शांति अध्ययन में एम.ए. (एम.जी.पी.एस.)
18. मनोविज्ञान में एम.ए. (एम.ए.पी.सी.)
19. पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान में स्नातकोत्तर उपाधि (एम.एल.आई.एस)
20. मानव विज्ञान (नृविज्ञान) में एम.ए. (एम.ए.ए.एन.)
21. विस्तार एवं विकास अध्ययन में एम.ए. (एम.ए.ई.डी.एस.)
22. प्रौढ़ शिक्षा में एम.ए. (एम.ए.ए.ई.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
23. जेंडर एवं विकास अध्ययन में एम.ए. (एम.ए.जी.डी.)
24. महिला एवं जेंडर अध्ययन में एम.ए. (एम.ए.डब्ल्यू.जी.एस.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में)
25. दूर शिक्षा में एम.ए. (एम.ए.डी.ई.)
26. वाणिज्य में स्नातकोत्तर उपाधि (एम.कॉम.)
27. गणित में एम.एससी. (कंप्यूटर विज्ञान में अनुप्रयोग सहित) (एम.एस.सी.एम.ए.सी.एस.)
(प्रवेश केवल जनवरी सत्र में उपलब्ध) .
28. अनुवाद अध्ययन में एम.ए. (एम.ए.टी.एस.)

Graduate or Bachelor Courses (स्नातक उपाधि कार्यक्रम)

1. पर्यटन अध्ययन में स्नातक (बी.टी.एस.)
2. कंप्यूटर अनुप्रयोग में स्नातक (बी.सी.ए.)
3. सामाजिक कार्य में स्नातक (बी.एस.डब्ल्यू.)
4. पुस्तकालय और सूचना विज्ञान में स्नातक (बी.एल.आई.एस.)
5. स्नातक उपाधि कार्यक्रम (बी.डी.पी.) – बी.ए./बी.कॉम./ बी.एससी.
6. स्नातक उपाधि प्रारम्भिक कार्यक्रम (बी.पी.पी.) .

डिप्लोमा कार्यक्रम

1. पुस्तकालय ऑटोमेशन और नेटवर्किंग में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एल.ए.एन.)
2. आपदा प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.डी.एम.)......
3. गाँधी और शांति अध्ययन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.जी.पी.एस.)
4. ग्राम विकास में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.आर.डी.).
5. परामर्श एवं परिवार चिकित्सा में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.सी.एफ.टी.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
6. अनुवाद में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.टी.)
7. अन्तरराष्ट्रीय व्यवसाय संचालन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.आई.बी.ओ.)
8. पर्यावरण और सतत विकास में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ई.एस.डी.)
9. विश्लेषणात्मक रसायन शास्त्र में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ए.सी.)
10. अनुप्रयुक्त सांख्यिकी में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ए.एस.टी.)
11. पत्रकारिता और जनसंचार में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.जे.एम.सी.)
12. ऑडियो कार्यक्रम निर्माण में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ए.पी.पी.)
13. उच्च शिक्षा में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एच.ई.).
14. शैक्षिक प्रौद्योगिकी में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ई.टी.)
15. विद्यालय नेतृत्व और प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एस.एल.एम.)
16. शैक्षिक प्रबंधन और प्रशासन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ई.एम.ए.)
17. पूर्व-प्राथमिक शिक्षा में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.पी.पी.ई.डी.)
18. प्रौढ़ शिक्षा में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ए.ई.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध) ..
19. औषधि विक्रय प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.पी.एस.एम.)
20. सूचना सुरक्षा में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.आई.एस.)
21. बौद्धिक संपदा अधिकारों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.आई.पी.आर.)
22. आपराधिक न्याय में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.सी.जे.)
23. विस्तार एवं विकास अध्ययन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.ई.डी.एस.)
24. शहरी नियोजन एवं विकास में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.यू.पी.डी.एल.)
25. लोकतत्व और संस्कृति अध्ययन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एफ.सी.एस.)
26. अस्पताल और स्वास्थ्य प्रबंध में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एच.एच.एम.)
(प्रवेश केवल जनवरी सत्र में उपलब्ध)
27. जेरियाट्रिक मेडिसिन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.जी.एम.)
(प्रवेश केवल जनवरी सत्र में उपलब्ध)
28. मातृ एवं बाल स्वास्थ्य में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एम.सी.एच.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)......
29. एचआईवी मेडिसिन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एच.आई.वी.एम)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध) ..........
30. खाद्य सुरक्षा और गुणवत्ता प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.एफ.एस.क्यू.एम.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध) ...
31. वृक्षारोपण प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.पी.एम.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
32. पुस्तक प्रकाशन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.बी.पी.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध),
33. महिला और जेंडर अध्ययन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पी.जी.डी.डब्ल्यू.जी.एस.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
34. प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल और शिक्षा में डिप्लोमा (डी.ई.सी.ई.)
35. पोषण और स्वास्थ्य शिक्षा में डिप्लोमा (डी.एन.एच.ई.)
36. पंचायत स्तरीय प्रशासन और विकास में डिप्लोमा (डी.पी.एल.ए.डी.)
37. पर्यटन अध्ययन में डिप्लोमा (डी.टी.एस.)
38. जल कृषि में डिप्लोमा (डी.ए.क्यू.)
39. अंग्रेजी में सृजनात्मक लेखन में डिप्लोमा (डी.सी.ई.)
40. उर्दू में डिप्लोमा कार्यक्रम (डी.यू.एल.).
41. एच.आई.वी. और परिवार शिक्षा में डिप्लोमा (डी.ए.एफ.ई.)
42. बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिग – फाइनेंस ऐंड एकाउंटिंग में डिप्लोमा (डी.बी.पी.ओ.एफ.ए.)
43. महिला सशक्तिकरण और विकास में डिप्लोमा (डी.डब्ल्यू.ई.डी.)
44. पैरा लीगल प्रैक्टिस में डिप्लोमा (डी.आई.पी.पी.)
45. नर्सिग प्रशासन में डिप्लोमा (डी.एन.ए.) (प्रवेश केवल जनवरी सत्र में उपलब्ध)....
46. गहन देखभाल नर्सिंग में डिप्लोमा (डी.सी.सी.एन.) (प्रवेश केवल जनवरी सत्र में उपलब्ध)
47. फलों और सब्जियों से मूल्य संवर्धित उत्पाद में डिप्लोमा (डी.वी.ए.पी.एफ.वी.)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
48. डेयरी प्रौद्योगिकी में डिप्लोमा (डी.डी.टी.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
49. मांस प्रौद्योगिकी में डिप्लोमा (डी.एम.टी.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
50. अनाजों, दालों और तिलहनों से प्राप्त मूल्य-संवर्धित उत्पाद में डिप्लोमा (डी.पी.वी.सी.पी.ओ)
(प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
51. मछली उत्पाद प्रौद्योगिकी में डिप्लोमा (डी.एफ.पी.टी.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
52. जल संभर (वाटरशेड) प्रबंधन में डिप्लोमा (डी.डब्ल्यू.एम.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
53 विदेशी भाषा के रूप में जर्मन भाषा अध्यापन में डिप्लोमा (डी.टी.जी.)


प्रमाणपत्र कार्यक्रम

1. विद्युत वितरण प्रबंधन में उच्च प्रमाणपत्र (ए.सी.पी.डी.एम.)
2. सूचना सुरक्षा में उच्च प्रमाणपत्र (ए.सी.आई.एस.ई.)
3. विस्तार विकास अध्ययन में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.ई.डी.एस.)
4. प्रौढ़ शिक्षा में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.ए.ई.)
5. साइबर कानून में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.सी.एल.)
6. पेटेंट प्रैक्टिस में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.पी.पी.)
7. बांग्ला-हिन्दी अनुवाद में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.बी.एच.टी.)
8. मलयाल म-हिन्दी अनुवाद में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.एम.एच.टी.)
9. कृषि नीति में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.ए.पी.)
10. गाँधी और शांति अध्ययन में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.जी.पी.एस.)
11. दृष्टिदोष वाले व्यक्तियों के अनुदेशकों के लिए सूचना एवं सहायक प्रौद्योगिकी में
12. स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.आई.ए.टी.आई.वी.आई.).
13. जियोइंफॉरमेटिक्स में स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र (पी.जी.सी.जी.आई.)
14. स्वदेशी कला व्यवहार में प्रमाणपत्र (सी.आई.ए.पी.)
15. दृश्य कला-चित्रकारी में प्रमाणपत्र (सी.वी.ए.पी.)
16. दृश्य कला-अनुप्रयुक्त कला में प्रमाणपत्र (सी.वी.ए.ए.)
17. प्रदर्शन परक कला-रंगमंच कला में प्रमाणपत्र (सी.पी.ए.टी.एच.ए.)
18. प्रदर्शनपरक कला-हिंदुस्तानी संगीत में प्रमाणपत्र (सी.पी.ए.एच.एम.)
19. प्रदर्शनपरक कला-कर्नाटक संगीत में प्रमाणपत्र (सी.पी.ए.के.एम.)
20. प्रदर्शनपरक कला-भरतनाट्यम में प्रमाणपत्र (सी.पी.ए.बी.एन.)
21. अरबी भाषा में प्रमाणपत्र (सी.ए.एल.)
22. फ्रेंच भाषा में प्रमाणपत्र (सी.एफ.एल)
23. रूसी भाषा में प्रमाणपत्र (सी.आर.यू.एल)
24. आपदा प्रबंधन में प्रमाणपत्र (सी.डी.एम.)
25. पर्यावरण अध्ययन में प्रमाणपत्र (सी.ई.एस.)
26. गैर-सरकारी संगठन प्रबंधन में प्रमाणपत्र (सी.एन.एम.)
27. व्यवसाय कौशल में प्रमाणपत्र (सी.बी.एस.)
28. द्वितीय भाषा के रूप में अंग्रेजी शिक्षण में प्रमाणपत्र (सी.टी.ई.)
29. प्रयोजनमूल क अंग्रेजी में प्रमाणपत्र (बेसिक लेवल) (सी.एफ.ई.)
30. उर्दू भाषा में प्रमाणपत्र (सी.यू.एल.)
31. एच.आई.वी. और परिवार शिक्षा में प्रमाणपत्र (सी.ए.एफ.ई.)
32. समाज कार्य और आपराधिक न्याय प्रणाली में प्रमाणपत्र (सी.एस.डब्ल्यू.सी.जे.एस.)
33. स्वास्थ्य देखभाल अपशिष्ट प्रबंधन में प्रमाणपत्र (सी.एच.सी.डब्ल्यू.एम.).
34. नवजात शिशु और बच्चों की देखभाल में प्रमाणपत्र (सी.एन.आई.एन.)
35. मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल में प्रमाणपत्र (सी.एम.सी.एच.एन.)
36. गृह आधारित देखभाल में प्रमाणपत्र (सी.एच.बी.एच.सी.)
37. सामुदायिक रेडियो में प्रमाणपत्र (सी.सी.आर.)
38. पर्यटन अध्ययन में प्रमाणपत्र (सी.टी.एस.)
39. भोजन एवं पोषण में प्रमाणपत्र (सी.एफ.एन.)
40. पोषण और बाल देखभाल में प्रमाणपत्र (सी.एन.सी.सी.)
41. ग्राम विकास में प्रमाणपत्र (सी.आर.डी.)
42. रेशम कीट पालन में प्रमाणपत्र (सी.आई.एस.)
43. जैविक खेती में प्रमाणपत्र (सी.ओ.एफ.)
44. जल संचयन और प्रबंधन में प्रमाणपत्र (सी.डब्ल्यू.एच.एम.)
45. कुक्कुट पालन में प्रमाणपत्र (सी.पी.एफ.)
46. मधुमक्खी पालन में प्रमाणपत्र (सी.आई.बी.)
47. मानवाधिकार में प्रमाणपत्र (सी.एच.आर.)
48. उपभोक्ता संरक्षण में प्रमाणपत्र (सी.सी.पी.)
49. सहयोग, सहकारी कानून एवं व्यवसाय कानून में प्रमाणपत्र (सी.सी.एल.बी.एल.)
50. मानव तस्करी रोकथाम में प्रमाणपत्र (सी.ए.एच.टी.)
51. अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून में प्रमाणपत्र (सी.आई.एच.एल.)
53. सूचना प्रौद्योगिकी में प्रमाणपत्र (सी.आई.टी.).
54. मार्गदर्शन में प्रमाणपत्र (सी.आई.जी.)
55. संचार एवं आई टी कौशल में प्रमाणपत्र (सी.सी.आई.टी.एस.के.)
56. प्रयोगशाला तकनीक में प्रमाणपत्र (सी.पी.एल.टी.)
57. प्राथमिक विद्यालय गणित शिक्षण में प्रमाणपत्र (सी.टी.पी.एम.) (प्रवेश केवल जुलाई सत्र में उपलब्ध)
58. मूल्य शिक्षा में प्रमाणपत्र (सी.पी.वी.ई)
59. ऊर्जा प्रौद्योगिकी और प्रबंधन में प्रमाणपत्र (सी.ई.टी.एम.)
60. बिजली वितरण में सक्षमता प्रमाणपत्र (विद्युत तकनीशियनों के लिए) (सी.सी.पी.डी.)
61. पर्यावरण पर परिबोध (एप्रीसिएशन) कार्यक्रम (ए.सी.ई.)
62. जनसंख्या और सतत् विकास पर परिबोध पाठ्यक्रम (ए.सी.पी.एस.डी.)
63. पुस्तकालय और सूचना विज्ञान में प्रमाणपत्र (सी.एल.आई.एस.)

तो ये हैं Courses जो इंदिरा गाँधी मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) द्वारा चलाये जा रहे हैं।  

धन्यवाद,